The Monkey and Crocodile

बंदर का हृदय और मगरमच्छ

एक नदी के किनारे एक बहुत बड़ा पेड़ था । उस पेड़ पर एक बंदर रहता था । उस नदी में एक मगरमच्छ भी रहता था । वह मगरमच्छ प्रतिदिन नदी की किनारे आकर अपना समय बिताता था । धीरे – धीरे मगरमच्छ और बंदर में दोस्ती हो गई । बंदर प्रत्येक दिन मगरमच्छ को पेड़ से तोड़कर मीठे- मीठे फल खिलाता था । कभी-कभी मगरमच्छ अपनी पत्नी और बच्चों के लिये भी फल घर ले जाता था ।

एक दिन मगरमच्छ की पत्नी ने मगरमच्छ से कहा कि सोचो यदि यह फल इतने मीठे हैं तो  उस बंदर का दिल कितना मीठा होगा , जो यह फल प्रतिदिन खाता है ।ऐसा कहकर मगरमच्छ की पत्नी मगरमच्छ से उस बंदर को खाने की इच्छा प्रकट करने लगी । अगले दिन जब मगरमच्छ नदी के किनारे गया तो बंदर से बोला – “बंदर भाई ! बंदर भाई ! तेरी भाभी ने तुम्हें दावत पर बुलाया है । ” तब बंदर ने कहा – “ मैं पानी में कैसे जाऊँगा, मैं तो डूब जाऊँगा । ” तब मगरमच्छ ने कहा कि इसमें कौन सी बड़ी बात है तुम मेरे पीठ पर बैठ जाओ और मुझे जोर से पकड़ लो , मैं तुम्हें पानी के अंदर अपने घर ले चलूंगा ।

तब बंदर मान गया और मगरमच्छ के पीठ पर बैठ गया और जोर से उसे पकड़ लिया । कुछ दूर पानी में जाने के बाद बंदर से मगरमच्छ से पूछा – “मगरमच्छ भाई ! आज क्या बात है ? तुम बहुत उदास हो ? ”  तब मगरमच्छ ने सोचा की अब बंदर को सच्चाई बता देनी चाहिये और इस तरह मन में विचारकर बंदर से बोला – “ मुझे क्षमा करना बंदर भाई ! दरअसल मेरी पत्नी ने मीठे फल खा कर यह जिद पकड़ ली है कि जो बंदर प्रतिदिन यह फल खाता होगा उसका दिल कितना मीठा होगा । इसलिए मैं तुम्हें उसके दावत के लिये ले जा रहा हूँ । ” अब तो बंदर का चकराया , उसे सामने मौत दिखी ।

फिर उसने कुछ सोचकर हँसते हुए कहा “ अरे ! इतनी सी बात , यह बात तुम मुझे पहले बताते ,मैं तो अपना दिल लाना हीं भूल गया , वह तो पेड़ पर सूखने के लिये रखा था । ऐसा करो मगरमच्छ भाई , झटपट मुझे पेड़ के पास ले चलो , मैं दिल उतार की ले आता हूँ ।”   ऐसा सुनते हीं मगरमच्छ पेड़ की ओर तेजी से चलने लगा और पेड़ के पास पहुँच कर बंदर को पेड़ पर पहुँचा कर नदी किनारे प्रतीक्षा करने लगा ।

एक घड़ी बितने पर मगरमच्छ ने आवाज लगाई बंदर भाई , जल्दी करो मेरी पत्नी इंतजार कर रही होगी । तब बंदर ने पेड़ पर से हीं जबाव दिया अब मैं तुम्हारे हाथ नहीं आने वाला । कहीं जीवित प्राणियों में से भी दिल बाहर निकल सकता है भला , वो तो मैंने झूठ कहा था । इस प्रकार बंदर ने अपनी जान बचाई।

इसलिए संकट के क्षणों में धैर्य रखना चाहिए ताकि हम कठिन समय का डट कर सामना कर सकें |

॥ समाप्त ॥

शब्दावली – Vocabulary :

1. नदीnadiriver
2. किनारे – kinare – shore
3. जामुन – jaamun – blackberry
4. पेड़ –  ped – tree
5. बन्दर – bandar – monkey
6. मित्रता – mitrata – friendship
7. मगरमच्छ – magarmachh – crocodile
8. पत्नी – patni – wife
9. स्वादिष्ट – svaadisht – delicious
10. रोज़ाना – rojaana – daily
11. फल – phal – fruit
12. दिल – dil – heart
13. मीठा – meetha – sweet
14. पति – pati – husband
15. ज़िद्द – jidd – stubborness
16. विवश – vivash – helpless
17. चाल – chaal – trick, ploy
18. भाभी – bhabhi – sister in law (wife of a friend)
19. इसलिए – isliye – therefore
20. पीठ – peeth – back, spine
21. सुरक्षित – surakshit – safe
22. घर – ghar – home
23. मित्र – mitr – friend
24. सवार – savaar – rider
25. हानि – haani – loss, harm
26. भेद – bhed – secret
27. धैर्य – dherya – patience
28. खोखल – khokal – hollow
29. वापिस – vaapis – return
30. उपहार – upahaar – gift, present
31. प्रसन्न – prasann – happy
32. मूर्ख – murkh – fool
33. छलांग – chalang – jump
34. क्रोध – krodh – anger
35. संकट – sankat – trouble
36. क्षणों – kshaano – moments
37. कठिन – kathin – difficult, hard
38. समय – samay – time
39. सामना – saamana – face, encounter